Monday, October 22ਤੁਹਾਡੀ ਆਪਣੀ ਲੋਕਲ ਅਖ਼ਬਾਰ....

गुरु विरजानन्द गुरुकुल में यजुर्वेद पारायण यज्ञ का आयोजन

करतारपुर मेल (शिव कुमार राजू) >>  गुरु विरजानन्द गुरुकुल महाविद्यालय, करतारपुर द्वारा  आयोजित यजुर्वेद पारायण यज्ञ का चतुर्थ दिवस सम्पन्न हुआ। यज्ञ के ब्रह्मा महात्मा चैतन्य मुनि जी ने संकल्पित सभी यज्ञमानों के प्रति आशीष वचन कहे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक मनुष्य को सदा अपने इस जीवन में पुरुषार्थ करना चाहिए।
तत्पश्चात् आर्य भजनोपदेशक राजेश अमर प्रेमी एवं पंडित अजय आर्य ने अपने मधुर भजनों के माध्यम से सम्पूर्ण श्रोताओं को मन्त्र-मुग्ध कर दिय़ा। यज्ञ के प्रवक्ता डॉ. वेदप्रकाश श्रोत्रिय जी ने अपने उद्बोधन में कहा कि परमात्मा की आज्ञा का पालन करना ही धर्म है,  प्रत्येक मनुष्य के जीवन में सुख– शान्ति व आध्यात्मिक समृद्धि के लिए साधना का महत्वपूर्ण योगदान होता है।
आधुनिक जीवन में तनाव मुक्त रहने के रहने के लिए प्रत्येक मनुष्य को साधना एवं योग का आश्रय ग्रहण करना पड़ेगा। अन्त में गुरुकुल के प्राचार्य डॉ उदयन आर्य ने यज्ञ में उपस्थित सम्पूर्ण श्रोताओं का स्वागत करते हुए का कि अगर मनुष्य इस व्यस्त जीवन में से परमानन्द एवं शान्ति का अनुभव करना चाहता है तो उसे साधना अवश्य ही करनी होगी।
इस अवसर पर गुरुकुल द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें गुरुकुल के अध्यापक ब्रह्मचारी सहित करतारपुर के नगरवासियों ने आकर रक्तदान किया। इस अवसर पर लगभग 30 लोगों ने रक्तदान कर सामाजिक कार्य में सहयोग प्रदान किया। इस अवसर पर गुरुकुल के अधिकारी गण, अध्यापक गण, संन्यासी गण एवं गुरुकुल के ब्रह्मचारी गण भी उपस्थित थे ।
  


Welcome to

Kartarpur Mail

error: Content is protected !!